पिंपरी चिंचवड मे लागा बगावत का ग्रहण: नामांकन वापसी की बाद ही स्पष्ट होगा रणसंग्राम



पिंपरी (टाईम न्युजलाईन नेटवर्क)
पिंपरी चिंचवड मे राजनीती मे बडी खलबली मची है 
चिंचवड भोसरी के साथ पिंपरी मे भी बगावतगठबंधन और सीटों के बंटवारे को लेकर आखिरी दौर तक चली रस्साकशी के बाद भाजपा- शिवसेना- आरपीआई व अन्य मित्रदलों की महायुति की घोषणा हो गई। मगर सीटों के बंटवारे गठबंधन और सीटों के बंटवारे को लेकर आखिरी दौर तक चली रस्साकशी के बाद  को लेकर जारी खींचातानी खत्म नहीं हो सकी। नतीजन काफी जगहों पर महायुति को बगावत का ग्रहण लगा है। पिंपरी चिंचवड़ शहर में पिंपरी और चिंचवड़ विधानसभा चुनाव क्षेत्रों में यही आलम है। पिंपरी के बाद शुक्रवार को शिवसेना के नगरसेवक राहुल कलाटे ने भी बगावत का परचम लहराते हुए नामांकन पत्र दाखिल किया। बतौर निर्दलीय प्रत्याशी के कलाटे ने महायुति के प्रत्याशी व भाजपा विधायक लक्ष्मण जगताप को चुनौती दी है। हालांकि चुनाव की तस्वीर 7 अक्टूबर यानी नामांकन वापसी की मियाद के बाद ही स्पष्ट हो सकेगी।
महायुति में सीटों के बंटवारे के तहत चिंचवड़ विधानसभा की सीट भाजपा के पास गई है। भाजपा ने यहां से मौजूदा विधायक लक्ष्मण जगताप को मैदान में उतारा है। पिछले चुनाव में उन्हें कड़ी टक्कर देनेवाले शिवसेना राहुल कलाटे ने इस बार बतौर निर्दलीय प्रत्याशी के उन्हें चुनौती दी है। दूसरे प्रत्याशियों की भांति कलाटे भी चिंचवड़ से प्रबल इच्छुक थे। माना जा रहा था कि महायुति में शिवसेना के शामिल होने की सूरत में राष्ट्रवादी कांग्रेस का दामन थामेंगे। मगर उन्होंने ऐसा नहीं किया  इसी बीच राहुल कलाटे ने बगावत का परचम लहराते हुए निर्दलीय प्रत्याशी के तौर पर नामांकन पत्र दाखिल किया।
पिंपरी के साथ ही भोसरी मे भी बडे पैमाने से बगावत का ग्रहण लगा  है नामांकन वापसी की  बाद ही स्पष्ट  हो जयेंगा रणसंग्राम.
Labels:

Post a Comment

Note: Only a member of this blog may post a comment.

[blogger]

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget